ओ-पोजेटिव की जगह सदर अस्पताल के लैब ने दिया बी-पोजेटिव का रिपोर्ट


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-सदर अस्पताल में शनिवार को लापरवाही का एक अलग ही मंजर दिखा।इलाज,सफाई,व्यवस्था व मरीजों के सुविधाओं में लापरवाही की बाते तो सुनने को मिलती थी परंतु पहली बार सदर अस्पताल के लैब कक्ष की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है।मामला उस वक़्त सामने आया जब खैरा प्रखंड के चौकीटांड़ गांव निवासी मो.शमशेर रज़ा मियादी बुखार से पीड़ित अपने डेढ़ वर्षीय पुत्र मो.तहसीन रज़ा को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया।जहां उन्होंने सुबह 09 बजकर 50 मिनट पर बच्चे का पंजीयन करवाया।10 बजकर 30 मिनट पर बच्चे को ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक देवेंद्र कुमार से दिखाया गया।चिकित्सक द्वारा बच्चे को देखने के बाद खून की कमी बताई गई और बच्चे को अभिलम्ब खून चढ़ाने की बात कही।उसके बाद परिजन बच्चे को लेकर सदर अस्पताल स्थित लैब में पहुंचे जहां टेक्नीशियन द्वारा बच्चे का ब्लड ग्रुप जांच की गई और तकरीबन 11 बजे बी-पौजेटिव ब्लड ग्रुप का रिपोर्ट परिजन को दिया गया।

गोद में बीमार बच्चे को लेकर 03 घंटे तक भटकते रहे परिजन
जब परिजन ब्लड लेने अस्पताल के ब्लड बैंक पहुंचे तो बी-पौजेटिव ब्लड ही मौजूद नहीं था।बच्चे के माता-पिता व अन्य परिजन द्वारा ब्लड ग्रुप की जांच भी करवाई गई लेकिन किसी का ब्लड बच्चे के ब्लड से नहीं मिला।परिजन तकरीबन 03 घंटे तक गोद में बच्चे को लेकर परेशान होते रहे।उसके बाद सुन्नी उलेमा बोर्ड के सचिव ज्याउल रसूल गफ्फरी द्वारा 02 बजे बी-पौजेटिव ब्लड का इंतेज़ाम कराया गया।

क्रॉस मेचिंग में हक़ीक़त ब्लड ग्रुप का चला पता
03 घंटे परेशान होने के बाद जब बी-पौजेटिव ब्लड की व्यवस्था हुई तो ब्लड बैंक के टेक्नीशियन संदीप कुमार द्वारा
जब ब्लड का क्रॉस मेचिंग किया गया तो बच्चे का ब्लड बी-पौजेटिव नहीं बल्कि ओ-पौजेटिव ब्लड निकला।तब इसकी सूचना सिविल सर्जन डॉ. श्याम मोहन दास और उपाधीक्षक डॉ. सैयद नौशाद अहमद को दी गई।

05 घंटे बाद बीमार बच्चे को चढ़ाया गया ब्लड
क्रॉस मेचिंग के बाद जब हक़ीक़त ब्लड ग्रुप का पता चला तो बच्चे के पिता मो.
शमशेर रज़ा द्वारा ने ओ-पौजेटिव ब्लड दिया गया।उसके बाद 04 बजे शाम में बच्चे को ब्लड चढ़ाया गया।

निजी क्लिनिक में बच्चे का चल रहा था इलाज
बच्चे के पिता ने बताया कि लगभग 10 दिनों से उसका पुत्र मियादी बुखार से पीड़ित है जिसे शहर स्थित एक निजी क्लिनिक से इलाज करवाया जा रहा था जिसे चिकित्सक द्वारा सदर अस्पताल में ब्लड चढ़ाने की बात कही गई थी।

डीएस ने लगाई फटकार
सिविल सर्जन डॉ. श्याम मोहन दास के एक बैठक में रहने के बाद सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ सैयद नौशाद अहमद सदर अस्पताल पहुंच कर अस्पताल के लैब टेक्नीशियन को जमकर फटकार लगाई।और ब्लड ग्रुप में गड़बड़ी होने का कारण अभिलम्ब बताने के बात कही।साथ ही उन्होंने मीडिया कर्मी से बात करते हुए कहा कि टेक्नीशियन द्वारा स्पष्टीकरण देने के बाद आगे जो कार्रवाई होगी बताया जाएगा।

Comments are closed.