मुंबई कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष संजय निरूपम ने मिलिंद के पद छोड़ने पर साधा निशाना


आर.पी.मौर्या संवाददाता
मुंबई। पूर्व अध्यक्ष संजय निरूपम ने सोमवार को ट्विटर के जरिए निशाना साधा तो उर्मिला मातोड़कर ने भी लोकसभा चुनाव प्रचार में पार्टी कार्यकर्ताओं पर सहयोग न करने का आरोप लगाया है और कहा है कि वह इस संबंध में दो महीने पहले मिलिंद को 9 पेज का शिकायती पत्र भी भेज चुकी हु । उर्मिला मातोंडकर ने बताया है कि उन्होंंने 16 मई को 9 पेजों का एक पत्र मुंबई कांग्रेस के तत्कालीन अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा को लिखा था और पत्र में उन्होंने बताया था कि पार्टी कार्यकर्ताओं ने उन्हें चुनावी अभियान में सहयोग नहीं किया है । उन्होंने ऐसे कार्यकर्ताओं के खिलाफ ऐक्शन लेने का आग्रह किया है ।

मुंबई कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने के बाद मिलिंद देवड़ा ने राष्ट्रीय राजनीति में भूमिका निभाने की इच्छा जताई थी। इस पर निरूपम ने ट्वीट किया- ‘इस्तीफा में त्याग की भावना अंतर्निहित होती है। यहां तो दूसरे क्षण ‘नेशनल’ लेवल का पद मांगा जा रहा है। यह इस्तीफा है या ऊपर चढ़ने की सीढ़ी? पार्टी को ऐसे ‘कर्मठ’ लोगों से सावधान रहना चाहिए।’ संजय के ट्विट के जवाब में देवड़ा के भाई जगताप ने लिखा है कि कुछ नेता कांग्रेसी होने का दावा करते हैं लेकिन वे जातिवाद और भाषावाद की राजनीति करते हैं। वे अन्य नेताओं का अपमान करते हैं और फिर उनके क्षेत्र से चुनाव भी लड़ते हैं लेकिन इस सबके बावजूद वह 2.7 लाख वोटों से हार जाते हैं। ऐसे ‘कर्मठ’ नेताओं से सावधान रहने की जरूरत है।” खास बात यह है कि जगताप के इस ट्वीट को मिलिंद देवड़ा ने लाइक किया था।

Comments are closed.