सरपंच जलदाय विभाग की पाइप लाइन के काम को लेकर कर रहे है तानाशाही

रिपोर्ट-भुट्टाखान
बाड़मेर-ऐसे कई मामले सामने आते है।जिसमे ग्राम के सरपंच के घोटाले के खबरे को सुनने को मिलती है। ग्राम पंचायत बाडमेर मगरा के सरपंच व सरपंच पति द्वारा भोली भाली जनता के साथ खिलवाड़ करने का मामला सामने आया। बाड़मेर मगरा के राजस्व गांव विदासर मे सरपंच ने एक जलदायक विभाग की पानी की पाईप लाईन जीएलआर तक कनेक्शन किया हुआ था आगे सरपंच ने कोई सार्वजनिक कनेक्शन करने के नाम पर पिछे से अनुमति लेकर जनता को भ्रमित करके अपने घर बने टाके की ओर कनेक्शन ले लिया ।सरपच के घर कनेक्शन ले जाने का मामला सामने आया।

पाइप लाइन का प्रमुख ट्युवेल गोपाल गौशाला के पास है।और पाइप लाइन को ट्युवेल से राइको की ढाणियों से होते हुए सरकारी कटौती सड़क के साथ शुरू करनी थी परन्तु सरपँच ने अपनी मनमानी से पाईप लाइन को सीधा बाहर से सिर्फ अपने घर की और खुदाई करवाकर बिछाने की तैयारी की यहां तक कि पूरे कार्य के लिए पूर्ण दस लाख का बजट स्वीकृत हुआ है परंतु जिस तरह सरपंच इस कार्य को शॉट दिशा में ले जाकर अपने ढाणी में जल देवा की पाइप लाइन छोड़ रहा है इससे कार्य तो हो ना हो परंतु सरपंच की जेब जरूर भर जाएगी।

सरपँच ने कहा जो करना वो कर लो
ग्रामीणों ने जब जलदाय विभाग के इस बड़े घोटाले एव सरपँच की तानाशाही को लेकर इस बारे जब सरपँच से बात की तो सरपँच ने कहा कि जो करना है।वो कर लो मेरी पहुँच ऊपर तक है।मेरी मर्जी है।में इस गांव का सरपँच हु।

ग्रामीणों ने कई अधिकारियों को भी दिया ज्ञापन
इस मामले को लेकर मगरा ग्रामीणों ने जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता एवं कई अधिकारियों एवं जलदाय विभाग के कर्मचारियों एवं अधिकारियों को लिखित में ज्ञापन देकर इस कार्य को रुकवा कर कागजों में दी हुई जमीनी करण मोड़ पर खुदाई करने के लिए आग्रह किया इस पर जिला कलेक्टर हिमांशु गुप्ता ने उचित जांच एवं सरपंच के खिलाफ कार्रवाई करने का करवाने के का आश्वासन दिया है।

ग्रामीणों ने क्या कहा
ग्रामीणों का कहना है कि हमने इस बार में सरपंच को कई बार अवगत भी कराया और कई लोगों को भी कहा और ग्रामसेवक के द्वारा भी सरपंच को अवगत कराया कि यह ऐसा ना करें क्योंकि जिस तरह पूरे गांव का पानी रोक कर वह सिर्फ अपने घर की ओर पानी की लाइन बिछा रहा है ।परंतु सरपंच ने सिर्फ डॉल मटोल शब्दों से हमारी बातों को टाल कर यही कहा कि जो करना है वह कर लो यही नहीं प्रमुख ग्राम की तरफ आने वाली सड़क पर लगे खंबे को अपने घर की ओर खुदाई करवा कर लगवा दिया परंतु नियमानुसार उन संभोग को राईको की ढाणी से होते हुए फिर सरपंच के घर के आगे से गुजरना परंतु सरपंच ने हर कार्य में अपनी मनमानी की है।

Comments are closed.