शेखपुरा मुख्यालय डीएसपी पहुँचे जमुई के चकाई थाना, शिव मंदिर में किये पूजा अर्चना

अंजुम आलम की रिपोर्ट
जमुई: शिवरात्रि पर्व को लेकर शेखपुरा के मुख्यालय डीएसपी अरुण द्विवेदी सोमवार को जमुई के नक्सल प्रभावित चकाई थाना पहुँचे। थाना परिसर में स्थित शिव मंदिर में पूजा अर्चना किये। इस दौरान डीएसपी अरुण द्विवेदी ने पूरे विधि विधान के साथ शिव जी की पूजा एवं हवन कर ईश्वर से मंगल कामना की। वहीं डीएसपी चकाई थाना में लगभग 4 घन्टे तक रह कर मंदिर में पूजा अर्चना किया। बताते चलें कि अरुण दृवेदी 2010 में चकाई थाना में थानाध्यक्ष रह चुके थे।

चकाई थाना के थानाध्यक्ष रहते इन्होंने चकाई थाना परिसर में स्थित जीर्ण-शीर्ण अवस्था में पड़े शिव मंदिर में भगवान भोलेनाथ का शिवलिंग बनारस से मंगवा कर मंदिर में स्थापित किया था। वहीं पूरे मंदिर को मार्बल टाइल्स लगवा कर सुबह-शाम पूजा करने का नियम भी बनवा दिया था। बताते चलें कि चकाई से स्थानांतरित होने के बाद भी हर वर्ष शिवरात्रि में चकाई थाना पहुँच स्थापित शिवलिंग की पूजा पूरे विधि विधान के साथ करते आ रहे हैं। चकाई के पूर्व थानाध्यक्ष सह वर्तमान में शेखपुरा मुख्यालय के डीएसपी जब 2013 में चकाई के थानाध्यक्ष थे तो उस वक्त नक्सल प्रभावित चकाई में नक्सलियों का भय कायम था। उस वक़्त पुलिस और पब्लिक के बीच समन्वय स्थापित कर आम पब्लिक के दिल से नक्सलियों के डर को निकाल कर आम जनों का विश्वास जीता था। वहीं अपने कार्यकाल में अरुण द्विवेदी ने चकाई थाना परिसर में विभिन्न फूल व पेड़-पौधे लगवाए थे। यूं कहा जाए तो इन्हें प्रकृतिक से विशेष प्रेम भी था। इसके अलावे ईश्वर की भक्ति भी विशेष रूप से करते थे। चकाई से थानाध्यक्ष से स्थांतरित होने के बाद इंस्पेक्टर में प्रोमोशन प्राप्त कर खगड़िया में सार्जेंट मेजर रहे। इसके बाद खगड़िया से प्रमोशन मिलने के बाद डीएसपी बन लखीसराय में डीएसपी रहे। लखीसराय से स्थानांतरित होने के बाद जमुई में मुख्यालय डीएसपी रहे।फिर जमुई से स्थानांतरित होने के बाद इन्हें शेखपुरा का मुख्यालय डीएसपी बनाया गया था।इस मौके पर पंडित शालिग्राम पांडेय द्वारा पूरे विधि विधान से पूजा अर्चना करवाया गया।वहीं चकाई थाना के मुंशी अनिल मिश्रा भी मौजूद रहे।

Comments are closed.