भलीसर गांव में बूढे का तला में जजर पड़ा उप स्वास्थ्य केंद्र


रिपोर्ट-भुट्टाखान
बाड़मेर। जिले भर में ऐसे कई गांव है।जहां स्वास्थ्य केंद्र है।परन्तु वहां एनएम समय पर नही पर बाड़मेर जिले के धोरीमन्ना क्षेत्र के भलीसर ग्राम बूढ़े का तला में तो कुछ और ही।तथ्य बन गया स्वास्थ्य केंद्र।यहाँ लोगों की ऐसी हालत हो गई है कि अगर उनको कोई आम बीमारी जैसे बुखार खांसी होती है तो इलाज के लिए पड़ोसी गांव याद धोरीमना का रुख करना पड़ता है परंतु गांव में स्वास्थ्य केंद्र होते हुए भी उनको इसका कोई लाभ नहीं मिल पा रहा मिलेगा भी कैसे यहां जो स्वास्थ्य केंद्र बना है उसमें डॉक्टर या कोई एनएम नहीं है जब गांव वालों ने इस बारे में सरपंच से संपर्क किया तो सरपंच ने कहा हो जाएगा बन जाएगा अब तक गांव वाले सिर्फ हो जाएगा बन जाएगा सुनकर शांत बैठे हैं
यहां सरकारी योजना के अंतर्गत सन 2007 में उप स्वास्थ्य केंद्र का कार्य शुरू हुआ और कुछ काम हुआ स्वास्थ्य केंद्र की दीवारे खड़ी की पर अब यह कि स्थिति ऐसे है।कि यहां की बस एक खड्हर दिख रहा है।

निमार्ण से अब तक नही लगे दरवाजे खिड़कियां निमार्ण से अब तक स्वास्थ्य केंद्र बूढे का तला की हालत जजर पर है।यहाँ तक कि कोई दरवाजा खिड़की अब तक नही लगी है।
और दिखने ऐसा लगता है।कि इस भवन को कई वर्षों बीत गए हो।जब ग्रामीणों ने स्वास्थ्य भवन निर्माण के बारे में सरपंच से बात की तो सरपंच ने कहा कि हो जाएगा बन जाएगा इन शब्दों से अपना बिछा छुड़ा लिया।
बजट उठ गया पर निर्माण अधूरा
पिछड़ा क्षेत्र अनुदान योजना बीआरजीएफ पंचायती राज विभाग ने सन 2007 में ग्राम पंचायत भलीसर बुड्ढे का तालाब में उप स्वास्थ्य केंद्र निर्माण हेतु तीन लाख का वजट स्वीकृति हुआ भवन निर्माण सरपंच के अधीन हुआ और सरपंच ने सम्पूर्ण बजट उठा लिया 2007 से अब तक ग्रामीण अन्य किसी भी आम बीमारी का इलाज करवाने पड़ोसी ग्राम या धोरीमन्ना का रुख करते है।जब कि बूढ़े का तला में स्वास्थ्य केंद्र बना है।पर करे तो क्या करे इस स्वास्थ्य केंद्र की बर्बर हालत और अंदर का घटिया निर्माण आज 13 वर्ष हो गए बस सरकारी कागजो में पूर्ण है।तो यहां कौन बैठेगा पर जो भी हो सरपंच साहब ने बजट उठा लिया
अब तक नही किया भवन को स्वास्थ्य विभाग को सपुर्द
जब इस बारे में स्वास्थ्य चिकित्सा विभाग धोरीमन्ना और बाड़मेर से लिखित मांगी तो पता चला कि इस भवन को अब तक उनके स्वरूप सुपुर्द भी नही किया अब तक ग्राम के सरपंच के ही अंडर कार्य प्रगतित है।
प्रगति उप स्वास्थ्य केंद्र भवन पर लिखे हैं अश्लील शब्द एवं चित्रण
नीचे दिए गए फोटो में साफ साफ दिख रहा है कि बुड्ढे का तला भलीसर उप स्वास्थ्य केंद्र की क्या हालत है यहां की दीवारों पर सिर्फ अश्लील शब्द और कुछ सावधानी नाम लिखे हैं 13 वर्ष से बंद और जर्जर हालत में पड़े इस स्वास्थ्य केंद्र को किसी की क्या पड़ी जब ग्राम पंचायत की मिलीभगत एवं प्रशासनिक अधिकारियों की मिलीभगत के कारण संपूर्ण बजट सरपंच ने उठा लिया
सरपंच का कहना
बुड्ढे का तला में 2007 में स्वास्थ्य केंद्र बनने के बाद एक एनएम यहां लगी थी परंतु उस एनएम के डिग्री कागजात सही नहीं थे इस कारण यहां से उसे निकाल दिया गया अब तक मेरी सरकार से बात चल रही है जल्द ही भवन निर्माण में कार्य गति सही होगी और नहीं है ना लगाई जाएगी
ग्रामीणों का क्या कहना
इस बारे में हमने कहीं बार सरपंच और गांव के बड़े लोगों ने मिलकर सरपंच को कहा कि भवन का निर्माण कराएं अब 13 वर्ष हो चुके हमें इलाज के लिए पड़ोसी गांव या दूरदराज इलाके का सफर करना पड़ता है पर सरपंच ने एक ही शब्द का करवा दूंगा धीरे धीरे हो जाएगा परंतु अब तक गांव की कोई नहीं सुन रहा क्योंकि सरपंच ने सारा बजट उठा लिया है और यही नहीं गांव में ऐसे कई काम है जिसमें सरपंच ने घोटाले किए हैं।

Comments are closed.