पालघर में टैंकर मफिओ की चांदी


आर.पी.मोर्या
पालघर। पालघर जिले में पानी मुद्दा बना रहा है और हर उम्मीदवार ने लोगों की प्यास बुझाने का वादा किया। लेकिन, फिलहाल यहां पानी की स्थिति बहुत गंभीर है। कुएं, नदी, तालाब सब सूख गए हैं। लोगों को कई किलोमीटर तक पानी के लिए भटकना पड़ रहा है।

एक ओर जहां पानी की भारी किल्लत से लोग जूझ रहे हैं, वहीं टैंकर माफिया चांदी काट रहे हैं। हालात ये हैं कि पानी माफिया सैकड़ों टैंकरों से बोरिंग का खारा पानी भरकर क्षेत्रों में भेज रहे हैं और कीमत मीठे पानी के बराबर वसूल रहे हैं। खराब पानी की वजह से लोगों में बालों को कई तरह की बीमारियों के साथ अन्य दिक्कतें भी हो रही हैं लेकिन पानी खरीदना लोगों की मजबूरी है।

जिले में ग्रामीण क्षेत्र काफी बड़ा है। आदिवासी पिछले 2 महीने से पानी की समस्या से जूझ रहे हैं। जव्हार, मोखाडा, वाडा, तलासरी, डहाणू, विक्रमगढ़, कासा आदि क्षेत्रों में भीषण गर्मी से कुएं, तालाब,नदी, झरने सब सूख गए हैं। इस वजह से यहां गांव की महिलाएं दो-तीन किलोमीटर दूर जाकर पानी लाती हैं।

Comments are closed.