प्रेमी ने दिया धोखा तो पुलिस हिरासत में युवती ने खाई जहर,हालत गंभीर

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई। पुलिस प्रशाशन के बीच अचानक उस वक़्त हलचल मच गई जब एक युवती ने पुलिस हिरासत में अपनी ज़िन्दगी से हारकर जहर खा ली।बताते चलें कि पुलिस द्वारा बिना बताए एक युवती को उसके घर से उठाकर थाने ले आया गया और तीन दिनों तक उसे हाजत में रखा गया। पीड़ित युवती लगातार पुलिस से उसे पकड़ कर लाने की वजह पूछती रही लेकिन पुलिस के द्वारा उसे कोई जवाब नहीं दिया गया। पुलिसिया प्रताड़ना से तंग आकर आखिरकार युवती ने आत्महत्या करने की नियत से शुक्रवार को सल्फास की गोली खा ली।बताया जाता है कि महिला थाने के शौचालय में जाकर महिला ने सल्फास की गोली खाई।इसके बाद जब उसकी हालत बिगड़ने लगी तो पुलिसकर्मियों ने उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया।जहाँ युवती की हालत गंभीर होने की वजह से चिकित्सक मनीषी अनंत ने प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया।हालांकि गुरूवार को भी युवती ने महिला थाने में हंगामा किया था और पुलिस से थाने में रखने की वजह पूछ रही थी।

*04 वर्षों से दोनो के बीच चल रहा था प्रेम-प्रसंग,मौका देख युवक हुआ फरार
बताते चलें कि पीड़ित युवती खैरा प्रखंड के बल्लोपुर गांव निवासी आनंदी राम की पुत्री प्रतिमा कुमारी है जो जमुई में एक एनजीओ में काम करती थी जिसकी मुलाक़ात शहर के अभयपुर गांव निवासी कृष्णनंदन मण्डल के पुत्र आलोक कुमार उर्फ मुन्ना से हुई और दोनो के बीच लगभग 04 वर्ष पहले प्रेम प्रसंग शुरू हुई।उसके बाद आलोक युवती के साथ एक वर्ष पूर्व दिल्ली चला गया जहाँ युवक एक प्राइवेट कंपनी में काम करता था।और दोनो एक साथ रहने लगे।इसी बीच आलोक लड़की को छोड़कर फरार हो गया।

*26 फरवरी को दिल्ली से आलोक के घर पहुंची थी युवती
हालांकि आलोक के भागने के बाद युवती भी आलोक का पीछा करते हुए 26 फरवरी मंगलवार को सुबह जब उसके घर अभयपुर गांव पहुँची तो परिजनों ने युवती को रखने से इनकार कर दिया।जब युवती ने रहने की जिद की तो उसके प्रेमी आलोक की माँ सुजाता देवी व पड़ोसी पारो देवी और मुन्नी देवी ने जमकर मारपीट की।मारपीट के बाद जब युवती की हालत बिगड़ने लगी तो उसे ग्रामीण चिकित्सक द्वारा इलाज करवाया गया।उसके बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई तब पुलिस ने 26 फरवरी मंगलवार की देर शाम युवती को थाना ले आई।इधर युवती थाना लाने की वजह पूछती रही लेकिन पुलिस बिना कुछ बताए महिला थाना में युवती को रखी रही।

*पुलिस द्वारा 48 घंटे तक पकड़ कर रखने पर युवती ने की थी हंगामा
वहीं युवती के गिरफ्तारी के 48 घंटे से अधिक समय बीत जाने के बाद भी जब युवती को पुलिस ने नहीं छोड़ा तो युवती ने 28 फरवरी की शाम सदर थाने में हंगामा करते हुए पुलिस पर जबरन पकड़ कर रखने का आरोप लगया। युवती द्वारा पुलिस पर आरोप लगाया गया था कि उसे पुलिस किस आरोप में गिरफ्तार कर थाने में तीन दिनों से रखे हुए है इसका जवाब नहीं दे रही है।युवती बार-बार एक ही बात कह रही थी कि मुझे आलोक के पास रहना है सिर्फ रहने के लिए मुझे दिया जाए।

*युवती का पुलिस के साथ हुआ था हाथापाई
पुलिस द्वारा जबरन पकड़ कर रखने और कारण नहीं बताने से युवती मानसिक तौर पर विचलित हो चुकी थी।28 फरवरी को उसने पुलिस के साथ जबरन पकड़ कर रखने को लेकर हाथापई भी की थी।जिस दौरान प्रतिमा की तबियत बिगड़ गई थी।सूत्र बताते हैं कि युवती को इलाज के लिए सदर अस्पताल भी लाया गया था। इसके बाद प्रतिमा ने पुलिस को नहीं छोड़े जाने पर आत्महत्या कर लेने की धमकी भी दी थी। इस दौरान एसडीपीओ रामपुकार सिंह और महिला थानाध्यक्ष भी मौजूद थे।

*महिला थाना के शौचालय में युवती ने खाई ज़हर
शुक्रवार की दोपहर महिला थाने में अचानक अफरा तफरी का माहौल मच गई।पुलिस द्वारा पकड़ कर रखे गए युवती प्रतिमा ने परेशान होकर दोपहर करीब 12:30 बजे के आस-पास शौचालय गई और महिला थाना के ही शौचालय में जाकर सल्फास की गोली खा ली।काफी देर तक जब प्रतिमा बाहर नहीं निकली तो पुलिस शौचालय का दरबाजा तोड़कर युवती को बाहर निकाला तबतक उसकी स्थिति गंभीर हो चुकी थी। युवती को पुलिस द्वारा इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया जहां प्रारंभिक उपचार के बाद उसकी स्थिति को गंभीर बताते हुए उसे पटना रेफर कर दिया गया।

इस संबंध में एसपी जगुनाथरेड्डी ने बताया कि घटना की जानकारी मिली है जांच का आदेश दिया गया जांच के बाद ही कुछ कहना सम्भव होगा।वहीं एसडीपीओ रामपुकार सिंह ने बताया कि युवती पुलिस हिरासत में किसी प्रकार की दवा नहीं खाई है।युवती प्रेम-प्रसंग में धोखा को लेकर अभयपुर के कृष्णनंदन मण्डल के पुत्र आलोक कुमार के खिलाफ महिला थाना आवेदन देने आई थी आवेदन में शादी का झांसा देकर अवैध संबंध बनाने का आरोप युवती द्वारा लगाया गया है।फिलहाल युवती क्या खाई है इसका पता नहीं चल पाया है इलाज के लिए युवती असप्तल में भर्ती कराया गया है।जांच की जा रही है।

Comments are closed.