बंद होगी मेहुल चोकसी की कंपनी गीतांजलि जेम्स?


गीतांजलि जेम्स के कर्जदाताओं ने समाधान प्रस्ताव को खारिज कर दिया है और समय निकलने का हवाला देते हुए कंपनी के परिसमापन के पक्ष में मतदान किया है। कंपनी के ऊपर कर्जदाताओं के 8,000 करोड़ रुपये बकाये हैं।

कंपनी ने शेयर बाजारों को कहा कि कर्जदाताओं की समिति की 28 मार्च को बैठक हुई और बहुमत के साथ समाधान प्रक्रिया को आगे बढ़ाये जाने को खारिज कर दिया। कुल 54.14 प्रतिशत समर्थन के साथ कर्जदाताओं ने कंपनी के परिसमापन का निर्णय किया।

गीतांजलि जेम्स ने बीएसई से कहा, ”180 दिन की समाधान प्रक्रिया 6 अप्रैल को समाप्त हो गयी। चूंकि कर्जदाताओं ने इसकी समयसीमा बढ़ाने को मंजूरी नहीं दी है, अगला कदम परिसमापन का होगा।

Comments are closed.