आज के नौनिहाल देश का भविष्य:- शैलेश


रमेश शंकर झा,समस्तीपुर बिहार।
समस्तीपुर:- जिले के डाक प्रमंडल द्वारा डाक अधीक्षक आर० बी० पासवान की अध्यक्षता में समस्तीपुर प्रधान डाकघर पर फिलाटेली समर कैम्प का आयोजन किया गया। संचालन जनसम्पर्क निरीक्षक शैलेश कुमार सिंह ने कीया। वहीँ मुख्य अतिथि के रूप में माननीय पूर्व विधायक दुर्गा प्रसाद सिंह उपस्थित हुए। इस कार्यक्रम में केंद्रीय विद्यालय व निजी स्कूल के लगभग 75 छात्र/छात्राओं ने पत्र लेखन, क्विज़ व स्टाम्प डिजाइनिंग प्रतियोगिता में भाग लिया। विषय प्रवेश करते हुए डाक अधीक्षक श्री पासवान ने बच्चों को संबंधित प्रतियोगिता परीक्षा की जानकारी दी।

जिसमे जनसम्पर्क निरीक्षक शैलेश कुमार सिंह ने विस्तृत रूप से डाक विभाग के स्वर्णिम इतिहास समेत इसकी कार्यप्रणाली, उत्पाद, सेवा व समस्त योजनाओं की जानकारी दी। श्री सिंह ने बताया कि विश्व की विशालतम डाक व्यवस्था भारतीय डाक लगभग 1 लाख 55 हज़ार 15 डाकघरों के विशालतम नेटवर्क से देश के सुदूर क्षेत्रों में सेवाएँ प्रदान करता है। इसके साथ ढेर सारे कीर्तिमान भी जुड़े हुए हैं। एक ओर जहां हिमाचल प्रदेश के हिक्किम गांव में स्थित हिक्किम शाखा डाकघर विश्व की सबसे ऊँचाई पर स्थित डाकघर है, तो दूसरी ओर कश्मीर के डल झील में तैरता हुआ डाकघर (फ्लोटिंग पोस्ट आफिस भी है। श्री सिंह ने आगे बताया कि विश्व में सर्वप्रथम जीवन बीमा की सोंच भी भारतीय डाक का है। भारतीय डाक द्वारा 01 फरवरी 1884 ई० में डाक जीवन बीमा की शुरुआत की गई थी तथा बीमा के क्षेत्र में काम करनेवाली किसी भी बीमा कंपनी की तुलना में डाक जीवन बीमा का प्रीमियम कम और बोनस ज्यादा देता है।उन्होंने बच्चों और उनके अभिभावकों को डाक प्रेषण/प्राप्ति, बचत खाता, आवर्ती जमा खाता, एम०आई०एस०, टी०डी० आदि सहित समस्त डाक सेवा व उत्पाद की विस्तृत जानकारी दीया।

डाक विभाग द्वारा गत वर्ष शुरू की गई इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक तथा डाकघर पासपोर्ट सेवा केंद्र संबंधित जानकारी भी दीया।वहीँ श्री सिंह ने बताया कि माई स्टाम्प योजना अंतर्गत कोई भी व्यक्ति अपना खुद के चेहरे का डाक टिकट बनवा कर जहां एक ओर उसका उपयोग डाक विभाग के माध्यम से किये जाने वाले सामान्य पत्र, रजिस्ट्री, स्पीड पोस्ट, पार्सल इत्यादि में काम कर सकता है, तो दूसरी ओर जन्मदिन व उपहार के रूप में अपने यादगार पलों को डाक टिकट के रूप में संजोय सकता है। इसके लिए डाक विभाग द्वारा 300/- रुपये शुल्क निर्धारित है और उन्हें अपना अधिकृत पहचान पत्र व पासपोर्ट आकर का फोटो देना होगा। अंत में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पूर्व विधायक दुर्गा प्रसाद सिंह व डाक अधीक्षक आर०बी०पासवान ने संयुक्त रूप से प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान पाने वाले को पुरस्कार के रूप में ट्रॉफी व पुरस्कार वितरित किया। प्रतियोगिता में शामिल होने वाले सभी छात्र-छात्राओं को प्रशस्ति पत्र देकर उत्साहवर्धन किया और उनके उन्नत भविष्य की कामना की। इस कार्यक्रम को डाकपाल अनिल कुमार, डाक निरीक्षक नीरज कुमार, समीर कुमार मिश्र और संतोषः रौशन ने संबोधित किया। वहीँ निजी स्कूल के निदेशक, निजी स्कूल के प्राचार्य वी० के० मिश्रा, शिक्षिका, तथा डाक सहायक अरुण कुमार सिंह, किरण ठाकुर, रंजीत कुमार, रामदेव सिंह और हरीश चंद्र झा इत्यादि लोग उपस्थित थे।

Comments are closed.