डीएम के गले लिपट कर रोने लगी मृतक की मां,इंसाफ की लगाई गुहार


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-खैरा थाना क्षेत्र के चौकी टांड़ गांव में मृतक सकलदेव यादव की हत्या के बाद तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए गुरुवार की सुबह जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार के घटना स्थल पर पहुंचते ही पुत्र के वियोग में मृतक की मां पर्वतीया देवी जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार से लिपटकर फूट-फूट कर रोने लगी और पुत्र की हत्यारे को गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा देने की मांग करने लगी।इस दौरान जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार की आंख भी नम हो गयी।मृतक की मां रोते-रोते जिलाधिकारी को आपबीती सुनाते हुए कहने लगी कि “अब केकरा संग रहवे बबुआ जोहो कमाबे वाला रहलै ओकरो दुश्मनवा छीन लेलको”।आगे मृतक की मां अपनी बहू कविता देवी और 15 महीने के पोते अभिषेक कुमार से मिलवाते हुए कही की अब इसकी परवरिश कौन करेगा।साथ ही उन्होंने जिलाधिकारी से न्याय की गुहार लगाते हुए मुआवजे की भी मांग की।वहीं मृतक की मां और पत्नी की दहाड़ और चीख ने ग्रामीणों के साथ-साथ डीएम,एसपी सहित स्थानिए प्रतिनिधि व स्थानिए प्रशाशन की भी आंखे नम हो गई।

मृतक की मां,पिता व पत्नी का रो-रो कर हुआ बुरा हाल
सकलदेव हत्याकांड से परिवार सहित पुरा गांव शोक की लहर में डूबा है।वहीं मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है।खास कर मृतक की पत्नी कविता देवी,मां परवतिया देवी,पिता राम यादव का बुरा हाल है।स्थानिए लोग मृतक के घर पहुंचकर मां,पिता और पत्नी का ढाढस बंधा रहे हैं।मृतक की मां परबतिया देवी रोते हुए कहती हैं कि हमार बेटवा केकरा के की बिगाड़लको हो रोती हुई मृतक बेटे को याद कर रही थी।वहीं पत्नी कविता देवी 15 महीने के बेटे अभिषेक कुमार के साथ रोते हुए कह रही थी कि अब केकरा संग रहबे हो मैया दुश्मनमां छीन लेलको जिंदगीया।साथ ही भगवान को भी कोस रही थी की हमारा पति किसी का क्या बिगाड़ा था कि आज भगवान हमसे पति छीन लिया।वहीं मृतक के विकलांग पिता राम यादव का भी रो-रोकर बुरा हाल है।वो कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं है।

तीन वर्ष पहले हुई थी मृतक की शादी
बताते चलें कि मृतक सकलदेव यादव अपने तीन भाइयों में सबसे बड़ा भाई था।मंझला भाई प्रमोद कुमार और छोटा भाई विनोद कुमार पढ़ाई कर रहा है।ट्रैक्टर चलाकर अपने परिवार का भ्रण-पोषण करता था।सकलदेव की शादी तीन वर्ष पहले हुई थी जिसका एक 15 महीने का पुत्र अभिषेक कुमार है।जबकि दूसरा बच्चा पत्नी कविता देवी के गर्भ में पल रहा है जिसने न दुनिया देखी और न ही पिता को देखा।

10 लाख रुपया मुआवजा व मृतक की पत्नी को नौकरी देने की ग्रामीणों ने की मांग
वहीं उग्र ग्रामीणों ने DM धर्मेंद्र कुमार से 10 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग कर रहे थे साथ ही मृतक की पत्नी को नौकरी देने की मांग पर दिनभर ग्रामीण अड़े रहे।वहीं ग्रामीणों द्वारा मुस्लिम समुदाय के घर में छापेमारी की भी मांग कर रहे थे।इधर आक्रोशित ग्रामीणों को डीएम,एसपी और एसडीपीओ लगातार 12 घंटे से अधिक समय तक समझाते रहे।आलाधिकारियों द्वारा कड़ी मुशक्कत के बाद मुआवजा देने व कार्रवाई के आश्वासन पर ग्रामीणों को शांत किया गया।उसके बाद पुलिस ने पूर्व जिलापरिषद के पति मो.इबरार अंसारी को गिरफ्तार कर लिया।और नामजद अभियुक्त की तलाश जारी है।

Comments are closed.