जनसंख्या का कारण अशिक्षा व अंधविश्वास:- प्रभारी प्रधानाचार्य डॉ० घनश्याम राय।


ब्यूरो रमेश शंकर झा समस्तीपुर बिहार।
समस्तीपुर:- जिले के शाहपुर पटोरी अनुमंडल क्षेत्र के जीएमआरडी कॉलेज मोहनपुर में आज विश्व जनसंख्या दिवस पर भारत में जनसंख्या का कारण अशिक्षा व अंधविश्वास विषय पर सेमिनार आयोजित कीया गया। सेमिनार की अध्यक्षता करते हुए प्रभारी प्रधानाचार्य डॉ० घनश्याम राय ने कहा कि भारत में बढ़ती जनसंख्या का कारण अशिक्षा व अंधविश्वास है। उन्होंने कहा कि भारत ही एक ऐसा देश है जहाँ अभी भी लोगों की यह मान्यता है कि जीतने कमाने वाले होंगे उतनी ही अधिक आमदनी होगी। यह नहीं सोचते कि खाने वाले भी उतने हीं अधिक होंगे।

भारत जैसे अंधविश्वासी देश में बच्चों को भगवान की देन न मानकर यह समझा जाए कि जनसंख्या नियंत्रण हमारे हाथ में है। हम चाहें तो इस पर नियंत्रण रख सकते हैं। विश्व जनसंख्या दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य बढ़ती आवादी और दुष्प्रभावों पर ध्यान केंद्रित करना है। तीन दशकों से इस दिवस को मनाने का उद्देश्य जन्म दर पर नियंत्रण और जनसंख्या मे अनियमितता जैसे विषय पर दुनिया को सजग और जागरूक करना पूरे विश्व में साल-दर-साल बढ़ती आबादी को देखते हुए 11जुलाई 1989 से जनसंख्या को नियंत्रित करने के उद्देश्य से विश्व जनसंख्या दिवस मनाने की शुरुआत हुई थी।

इस दिन बढ़ती जनसंख्या से होने वाले दुष्परिणामों पर प्रकाश डाला जाता है और साथ ही लोगों को जागरूक किया जाता है, क्योंकि जनसंख्या पर नियंत्रण रखना बहुत जरूरी है। इस दिन जनसंख्या वृद्ध‍ि के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डालने और लोगों को जागरूक करने के लिए कई तरह के कार्यक्रमों का आयोजन कि‍या जाता है।

वहीँ सेमिनार को रामागर प्रसाद, डॉ संतोष कुमार, दिनेश प्रसाद, दीनानाथ साहु, रामदयाल राय ने भी संबोधित किया। स्वागत भाषण रामागर प्रसाद और धन्यवाद ज्ञापन दिनेश प्रसाद ने किया। इस सेमिनार के मौके पर रत्नेश कुमार सिंह, दिनेश राय, अशेश्वर राय, वीरेंद्र कुमार राय, चंदन, रघुवीर, जयप्रकाश, संजय, ब्रजेश, ममता, मंजू देवी इत्यादि लोग उपस्थित थे।

Comments are closed.