अनियंत्रित बोलेरो वाहन ने बाइक सवार दंपति को रौंदा

रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-मंगलवार का दिन जिले वासियों के लिए काला दिन कहा जाए तो यह गलत नहीं होगी। इस दिन जिले के अलग-अलग जगहों पर सड़क दुर्घटना में जहां चार लोगों की मौत हो गयी।तो वहीं एक महिला जिंदगी और मौत के बीच जुझ रही है।बताते चलें की मंगलवार की अहले सुबह सोनो-झाझा मुख्य मार्ग पर हाईवा के चपेट में आने से एक युवक की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी थी तो वहीं दूसरी सड़क दुर्घटना झाझा-गिद्धौर मुख्य मार्ग पर स्थित संसारपुर गांव के समीप ट्रक ने एक छात्रा को कुचल दिया।जिसकी मौत इलाज के लिए पटना ले जाने के दौरान रास्ते में ही हो गयी।अभी जिले वासी इस सदमे से उबर भी नहीं पाये थे कि अचानक मंगलवार की देर शाम जमुई-सिकन्दरा मुख्य मार्ग पर खरगौड़ गांव के समीप तेज़ रफ़्तार अनियंत्रित बोलेरो वाहन ने हंसता खेलता एक परिवार को उजाड़ दिया।बोलेरो की रफ्तार इतनी तीव्र थी कि बाइक सवार को रौंदते हुए सड़क किनारे दूकान में घुस गई।

दुर्घटना में बाल-बाल बची 18 महीने की मासूम बच्ची
बताते चलें कि इस भीषण सड़क दुर्घटना में सदर थाना क्षेत्र के लोहरा गांव निवासी शमशुल होदा के 42 वर्षीय पुत्र मो.शमशाद मल्लिक और 04 वर्षीय मासूम पुत्री फ़िज़ा प्रवीण की मौत घटना स्थल पर ही हो गई।जबकि 35 वर्षीय पत्नी अरमाना प्रवीण गंभीर रूप से जख्मी हो गई।हालांकि इस दुर्घटना में 18 महीने की मासूम बच्ची बाल-बाल बच गई।जिसके जिश्म पर शायद एक खरोंच भी नहीं लगी।जबकि बच्ची अपनी माँ अरमाना खातून के गोद में थी।दुर्घटना के बाद स्थानिए लोगों की मदद से गंभीर अवस्था में महिला को सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ चिकित्सक आफताब आलम और डॉ. मनीषी अनंत द्वारा प्राथमिक उपचार के बाद महिला की गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे बेहतर इलाज के लिए पटना रेफर कर दिया।

भाई से मिलने परिवार के साथ जमुई आया था व्यक्ति
मालूम हो कि मृतक मो.शमशाद मल्लिक अपने छोटे भाई मो.राजा से मिलने पत्नी और बच्चों के साथ बाइक पर सवार होकर जमुई आया था।छोटा भाई राजा काम करने के लिए गल्फ जाने वाला था जिसका फ्लैट पटना एयरपोर्ट से मंगलवार की देर रात्रि लगभग 10 या 11 बजे थी।इसी को लेकर भाई से मिलकर अपने परिवार के साथ जमुई से लोहरा अपने घर जा रहा था।तभी खड़गोर गांव के समीप तेज़ रफ़्तार बोलेरो आई और सामने से बाइक को रौंदते हुए दुर्घटना ग्रस्त हो गई।

मासूम 06 बच्चों के सर से छीन गया पिता का साया
बताते चलें कि मृतक मो.शमशाद मल्लिक गल्फ में काम कर अपनी पत्नी व बच्चों का भ्रण-पोषण करता था।महज कुछ दिन पहले ही गल्फ से अपने घर आया था।मृतक को दो पुत्र व पांच पुत्री है।जिसमें एक मासूम पुत्री की मौत पिता के साथ ही दुर्घटना में हो गई जबकि 06 बच्चे अब अपनी घायल मां के सही सलामत लौटने के इंतेज़ार में लगे हुए हैं।इस भीषण दुर्घटना से परिवार सहित पूरा गांव शोक की लहर में डूबा हुआ है चारों ओर मातमी सन्नाटा छाया हुआ है।इधर सभी मासूम बच्चों का रो-रो कर बुरा हाल हो रहा है तो उधर पिता के चले जाने के बाद माँ जिंदगी और मौत के बीच झूल रही है।बच्चों में 16 वर्षीय पुत्री साईबा प्रवीण,14 वर्षीय पुत्र मो.समीर,08 वर्षीय पुत्र मो.आमिर,07 वर्षीय पुत्री शिफा प्रवीण,06वर्षीय पुत्री जोहा प्रवीण और 18 महीने की मासूम पुत्री सुमैया प्रवीण है।

कहते हैं पदाधिकारी
हालांकि दुर्घटना की सूचना मिलते ही सदर थानाध्यक्ष राजेश शरण दल-बल के साथ घटना स्थल पर पहुंचकर बोलेरो वाहन को जब्त कर लिए और घटना की छानबीन में जुट गई।वहीं सदर प्रखंड विकास पदाधिकारी और अंचलाधिकारी सदर अस्पताल पहुंच कर परिजन को समझाते-बुझाते हुए 04-04 लाख रुपये मुआवजा देने की बात कही।

Comments are closed.