योगी राज में भी नहीं बदली यूपी पुलिस की हरकत, सोशल मीडिया पर वायरल करतूत

मोहित भटनागर संवाददाता
गाजियाबाद। यूपी के गाजियाबाद में एक बार यूपी पुलिस की शर्मनाक करतूत कैमरे पर रिकॉर्ड हुआ है। यही नही पुलिस की ये करतूत सोशल मीडिया पर भी वायरल हो रही है। दरअसल, पीआरवी पर तैनात सिपाही के द्वारा दिव्यांग से सट्टे की पर्ची मिलने के बाद उसके फोटो और वीडियो मोबाइल से हटाने के नाम पर पांच हजार रुपये रिश्वत लेने का वीडियो वायरल हुआ है। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस अधीक्षक ने सीओ प्रथम को मामले की जांच सौंपी है। विजयनगर थानाक्षेत्र के अंतर्गत चलने वाली यूपी 100 की पीआरवी संख्या 2144 में तैनात सिपाही का यह वीडियो है।

वीडियो की बात करें तो, एक वाहन में बैठा व्यक्ति हाथ में मोबाइल लेकर सिपाही से बात कर रहा है और वीडियो बना रहा है। वीडियो बना रहा व्यक्ति सिपाही से रात के मोबाइल से खींची गई फोटो और वीडियो डिलीट करने को कहता है। जिस पर सिपाही कहता है कि मेरे मोबाइल में एक ही फोटो पड़ी है। इसके बाद वाहन में बैठा व्यक्ति सिपाही को कुछ रुपये देता है। जिस पर सिपाही पूछता है कि कितने रुपये है और रुपये जेब में रख लेता है। वीडियो में सिपाही अपना नाम कपिल बता रहा है। साथ ही ये भी बता रहा है कि क्षेत्र में ड्यूटी करते हुए दस साल हो चुके हैं। सिपाही नोएडा के कुछ थाना प्रभारियों के नाम भी ले रहा है। तीन मिनट 26 सेकेंड का ये पूरा वीडियो है। पुलिस अधीक्षक नगर श्लोक कुमार ने बताया कि सिपाही का रिश्वत लेते हुए वीडियो वायरल होने का मामला संज्ञान में आया है। इस मामले की जांच क्षेत्राधिकारी प्रथम धर्मेंद्र चौहान को करने के आदेश दिए गए हैं।
इस ही के साथ, विजय नगर थाना में तैनात इंस्पेक्टर श्यामवीर सिंह का भी एक वीडियों वायरल हो रहा है। इस वीडियों में वो पत्रकार को धमकाते हुए नजर आ रहे है। इसमें वो पत्रकार को झूटे केस में फंसाने की धमकी देते दिखाई दे रहे है। दरअसल, थाने में इंस्पेक्टर साहब किसी मामले पर पैसा वसूलने की तैयारी कर रहे थे, लेकिन पास में ही खड़े पत्रकार ने जब दरोगा जी को नियम और कनून समझाने की कोशिश की तो वो भड़क गए और पुत्रकार को खुली धमकी दे डाली। लेकिन दोराग जी इस बात से अंजान थे पत्रकार उनकी सारी करतूत अपने फोन में रिकॉर्ड कर रहा है।  आपको बता दे कि इंस्पेक्टर श्यामवीर सिंह पर नशा माफियाओ और कब्जा धारीयों को संरक्षण देने की भी बात कहीं जा रहे है।

Comments are closed.