ऊर्जा सहयोग को बढ़वा देगा अमेरिका


अमेरिका ने द्विपक्षीय असैन्य परमाणु ऊर्जा सहयोग को बढ़ावा देने के लिये भारत में 6 परमाणु संयंत्र बनाने के लिए सहमति जताई है। एक संयुक्त बयान में इस बारे में जानकारी दी गई है। भारत-अमेरिका रणनीतिक सुरक्षा के नौवें दौर के पूरा होने के बाद जारी संयुक्त बयान में दोनों देशों ने कहा है कि हम द्विपक्षीय सुरक्षा और असैन्य परमाणु कार्यक्रम को मजबूत करने के लिये प्रतिबद्ध हैं।

अमेरिका की उप विदेश मंत्री आंद्रिया थॉम्पसन और विदेश सचिव विजय गोखले ने इस संयुक्त बैठक की सह अध्यक्षता की है कि दोनों देशों ने असैन्य परमाणु ऊर्जा क्षेत्र में सहयोग को लेकर 2008 में एक ऐतिहासिक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे। अमेरिका ने बुधवार को परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत को शीघ्र सदस्य बनाने की प्रतिबद्धता भी दोहरायी है। बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने वैश्विक सुरक्षा, अप्रसार की चुनौतियों समेत विभिन्न मुद्दों पर बातचीत की है।

Comments are closed.