घर में घुसकर चोरी करते युवक को ग्रामीणों ने जमकर की पिटाई


रिपोर्ट,मो.अंजुम आलम,जमुई (बिहार)
जमुई:-टाउन थाना क्षेत्र के लोहरा गांव में शुक्रवार की देर रात्रि चोरों द्वारा मो.सईद के घर को निशाना बनाया गया लेकिन चोर अपने मकसद में कामयाब नहीं हुआ।घर में घुसते ही एक चोर को परिजन ने मोबाइल चोरी करते हुए धर-दबोचा।और बाकी 04 अज्ञात चोर मौके से फरार हो गया।इधर चोर पकड़ाने की खबर बिजली की तरह पूरे गांव में फैल गई।देखते ही देखते काफी संख्यां में ग्रामीण जुट गए और चोर की जमकर पिटाई कर दी।पिटाई के बाद चोर गंभीर रूप से घायल हो गया जिसे शनिवार की सुबह ग्रामीणों द्वारा पुलिस के हवाले कर दिया गया।उसके बाद पुलिस द्वारा उक्त युवक को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ चिकित्सक देवेंद्र कुमार द्वार इलाज किया जा रहा है।फिलहाल युवक की स्थिति गंभीर बनी हुई है।युवक की पहचान सदर थाना क्षेत्र के अभयपुर गांव निवासी स्व:परमानंद महतो के पुत्र सुड्डू कुमार के रूप में हुई है।

पांच की संख्यां में चोरी करने आया था युवक,चार हुआ फरार
मो.सईद ने बताया कि लगभग 02 बजे रात में 05 की संख्यां में युवक आया जिसमें चार युवक घर के बाहर ही खड़ा होकर देख-रेख कर रहा था और सुड्डू कुमार घर के अंदर घुसकर एक एंड्राइड मोबाइल चुराया फिर और सामान चुराने की नीयत से इधर-उधर ढूंढने लगा तभी नींद खुली तो आवाज़ सुनते ही युवक भागना चाहा जिसे पकड़ लिया गया।जबतक ग्रामीण आते तब तक बाहर खड़े सभी चार युवक फरार हो गए।पूछताछ के दौरान सुड्डू ने लोहरा के निवासी एक युवक राकेश कुमार का नाम बताया है जबकि तीन अन्य युवक की जानकारी नहीं मिल पाई है जो अभयपुर का ही रहने वाला है।

एक सप्ताह पहले जेल से छूटा था युवक
तकरीबन ढाई महीना पहले सदर थाना क्षेत्र के नर्वदा गांव में एक व्यक्ति के घर में घुस चोरी करने के मामले में सुड्डू एक सप्ताह पहले ही जेल से छूट कर बाहर आया था।हालांकि जेल से छूटने के कुछ ही दिनों बाद लोहरा गांव से ही एक व्यक्ति के मवेशी को चुराकर बेच दिया।इतना ही नहीं स्थानीय लोग बताते हैं कि सुड्डू दर्जनों एंड्रॉइड मोबाइल चोरी कर बेच चुका है।

सुड्डू के कार्यों के वजह से परिवार ने सुड्डू का साथ छोड़ा
बताते चलें कि सुड्डू एक प्रतिष्ठित और होनहार परिवार का सदस्य है।चोरी की लत ने सुड्डू को परिवार से अलग कर दिया।सुड्डू पूर्व मुखिया स्व:बढ़ो महतो का पोता और दरोगा रामप्रवेश महतो का भतीजा है।जिसके परिवार में कोई शिक्षक तो कोई ग्राम सेवक के पद पर कार्यरत हैं।सुड्डू को समझाने के बाद जब आदत से बाज नहीं आया तो परिवार ने सुड्डू का साथ छोड़ दिया।

चोरी में गांव के युवकों का सुड्डू को मिलता है सहयोग
सुड्डू की माँ की माने तो गांव के ही कुछ युवक द्वारा शराब पिला कर उसे चोरी करने के लिए उकसाया जाता है और उसे घर के अंदर घुस कर चोरी करने के लिए भेज दिया जाता है।लाख समझाने के बावजूद युवक चोरी की आदतों से बाज़ नहीं आता है।आगे उन्होंने बताई की एक सुखी परिवार होते हुए भी सुड्डू के कार्यों की वजह से सभी परिवार से अलग होना पड़ा है।

Comments are closed.