बिना भूमि रूपांतरण के चल रही है, प्लास्टर एव जिप्सम की अवैध फैक्ट्रिया

रिपोर्ट-भुट्टाखान
बाड़मेर जिले भर में ऐसे कई ग्राम पंचायत या इलाके हैं जहां पर भूमि रूपांतरण एवं अन्य कब्जा एंबो माफियाओं के के अड्डे सक्रिय है परंतु यह मामला है बाड़मेर जिले के निकटवर्ती ग्राम कुंडला के प्रभुओंणी मालियों के वास का आज का जहां एक जिप्सम फैक्ट्री का संचालन जमीन रूपांतर के बगैर करने की कि शिकायत पूर्व में बाड़मेर के पूर्व जिला कलेक्टर को सर्वर कागजात के साथ की शिकायतकर्ता वीरू माली ने जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर शिकायत में बताया कि संयुक्त खातेदारी की जमीन पर खेताराम पुत्र नारणाराम द्वारा अवैध जिप्सम की फैक्ट्री का संचालन किया जा रहा है जिसकी जमीन की किस्म परिवर्तन करवाई गई है। जमीन कृषि के रूप में सर्वर उपजाऊ है इसके साथ ही। भूमि को बिना कन्वर्ट किए उक्त खसरा के जहां में जिप्सम की फैक्ट्री बिना कन्वर्ट के कार्य अपनी मनमर्जी से एवं ग्राम पंचायत की बिना अनुमति के चल रहा है। और जिला कलेक्टर को पर आवश्यक कार्रवाई करने के लिए आगरा किया गया

फैक्ट्री के पास है स्कूल एव रहवासीय ढाणिया
शिकायतकर्ता ने बताया है। आस पास लगभग तीन से चार अवैध फैक्ट्रियां चल रही है जिनको रहवासियों इलाके में ना होने की बजाय किसी इंडस्ट्रियल स्थान पर या जनजीवन से अलग भूमि पर होना चाहिए इसके उपरांत बिना कन्वर्टर परमिशन के फैक्ट्रियां चल रही है जिससे पास में ही एक सरकारी स्कूल एवं रहवासी मकान है। यहां रेवासियों आमजन को आए फैक्ट्रियों से निकलने वाली धुंध का हो दिनों दिन उनकी सांसों में मौत की तरह समाया हुआ है।फेक्ट्री से निकले प्रदूषण स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थियों एवं आसपास के सभी आमजन के लिए मौत का कारण बन रहा है।
पूर्व जिला कलेक्टर ने शिकायत को भेजा था खान विभाग को पूर्व में जब इन अवैध रूप से चल रही शक्तियों के बारे में बाड़मेर के पूर्व जिला कलेक्टर को शिकायत एवं ज्ञापन दिए गए तब कलेक्टर जिला कलेक्टर ने खान विभाग को इस पर कार्रवाई करने के आदेश जारी किए थे परंतु आज एक से डेढ़ साल हो चला है वह फैक्ट्री अब तक अवैध रूप से चल रही है।
नही अब तक खान विभाग की कोई कार्यवाही दिखी नही बाड़मेर प्रशासन की।
खान विभाग ने जांच भेजी राजस्व विभाग को खान विभाग बाड़मेर के पास जब कुर्ला में चल रही अवैध व्यक्तियों की शिकायत बाड़मेर पूर्व जिला कलेक्टर द्वारा भेजी गई तो खान विभाग ने इस शिकायत को राजस्व विभाग को भेजा उसके उपरांत जांच कमेटी की कोई भी जांच नजर नहीं आई अब तक स्थिति ज्यों की त्यों ही है इसके खनिज विभाग तीन फैक्ट्री मालिको किया था एक नोटिस जारी खनिज विभाग ने अवैध रूप से चल रही फैक्ट्रियों को नोटिस जारी कर बताया कि जिनमें जिप्सम एम् ने धातु के संबंध में जानकारी मांग एवं 15 दिनों में जमीन एम फैक्ट्री से संबंधित कागजात स्टाक रजिस्टर, बिल बुक एव अन्य फेक्ट्री एव जमीन से सम्बंधित दस्तावेज पंद्रह दिनों के अंदर खनिज विभाग को समीप करने के आदेश जारी किए परन्तु विभाग द्वारा नोटिस जारी किए एक से डेढ़ वर्ष पूर्ण हो चला परन्तु फैक्ट्रियों का संचालन पूर्व जैसा ही चल रहा है ।
अंत यहां प्रशासन की नोक पर जिले भर में ऐसी कई फैक्ट्रियां चल रही है। क्या कहा रामदेव प्लास्टर फैक्ट्री के मालिक ने मेरी फैक्ट्री प्रमुख रूप से सरकारी दस्तावेज में जांच चल रही है। एवं यहां भूमि का पूर्ण रूप से हमारे पास दस्तावेज एवं विभाग से संबंधित संपूर्ण दस्तावेज हमारे पास उपस्थित है किसी तरह की कोई अवैध गतिविधि मैं नहीं चल रही है।

Comments are closed.